केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो के संबंध में आम तौर पर पूछे जाने वाले प्रश्न

  • प्रश्न 1 : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो की स्थापना कब हुई और इसके क्या कार्य हैं?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो की स्थापना मार्च 1971 को गृह मंत्रालय के अधीन की गई और केंद्र सरकार के मंत्रालयों, विभागों, कार्यालयों, उपक्रमों आदि के असांविधिक प्रक्रिया साहित्य का अनुवाद कार्य केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो को सौंपा गया। अनुवाद में सरलता,सहजता और शब्दावली में एकरूपता सुनिश्चित करने के लिए वर्ष 1973 से अनुवाद प्रशिक्षण का कार्य भी ब्यूरो को सौंपा गया। केंद्र सरकार के स्तर पर अनुवाद और अनुवाद प्रशिक्षण के लिए केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो एकमात्र संस्था है।
  • प्रश्न 2 : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो का मुख्यालय कहां स्थित है? इसके कितने क्षेत्रीय केंद्र हैं?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है और इसका पता इस प्रकार है :-

    निदेशक,
    केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो, 8वां तल,
    पर्यावरण भवन, सी.जी. ओ. कॉम्पलैक्स,
    लोदी रोड, नई दिल्ली – 110 003
    टेलीफैक्स : 011-24362025011-24362025 , 011-24362151011-24362151 , 011-24364203011-24364203

    ब्यूरो के तीन क्षेत्रीय अनुवाद प्रशिक्षण केंद्र हैं जिनका पता इस प्रकार है -

    दक्षिणी क्षेत्र-

    संयुक्त निदेशक/केंद्र प्रभारी,
    अनुवाद प्रशिक्षण केंद्र, केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो,
    पांचवा तल, केंद्रीय सदन, डी विंग,
    दूसरा ब्लाक, कोरमंगला, बेंगलूर - 560034
    दूरभाष : 080-25502162080-25502162
    फैक्स नं. : 080-25531946080-25531946

    पूर्वी क्षेत्र-

    संयुक्त निदेशक/केंद्र प्रभारी,
    अनुवाद प्रशिक्षण केंद्र, केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो,
    67-बी, बालीगंज, सर्कुलर रोड, कोलकाता - 700 019
    दूरभाष : 033-22876799033-22876799
    फैक्स : 033-22876044033-22876044

    पश्चिमी क्षेत्र-

    संयुक्त निदेशक/केंद्र प्रभारी,
    अनुवाद प्रशिक्षण केंद्र, केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो,
    केंद्रीय सदन, छठी मंजिल,
    सेक्टर 10 ए, सी.बी.डी. बेलापुर,
    नवी मुंबई – 400614
    दूरभाष : 022-27572726022-27572726
    फैक्स : 022-27566902022-27566902
  • प्रश्न 3 : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो किस प्रकार का अनुवाद कार्य करता है?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों, विभागों, कार्यालयों और केंद्र सरकार के स्वामित्वाधीन तथा नियंत्रणाधीन उपक्रमों, निगमों, स्वायत्त निकायों, संगठनों तथाबैंकों आदि के असांविधिक प्रक्रिया साहित्य जैसे - कोडों, मैनुअलों, फार्मों, प्रशिक्षण सामग्री आदि का अनुवाद करता है।
  • प्रश्न 4 : क्या ब्यूरो बाहर के अनुवादकों से भी अनुवाद करवाता है? क्या इसके लिए कोई पैनल है? इस योजना में कैसे पंजीकरण करवाया जा सकता है?
    उत्तर : अनुवाद कार्य के बैकलॉग के शीघ्र निपटान के लिए ब्यूरो में वर्ष 1989 में अनुवाद क्षमता विस्तार योजना शुरू की गई थी। इस योजना के अधीन बाह्य अनुवादकों का परीक्षा/ साक्षात्कार के आधार पर पैनल तैयार किया जाता है और उनसे मानदेय/ पारिश्रमिक के आधार पर अनुवाद करवाया जाता है।

    अनुवाद के लिए मानदेय की वर्तमान दरें इस प्रकार हैं -
    (क) गैर-तकनीकी सामग्री के लिए 95 रुपए प्रति हजार शब्द; तथा
    (ख) तकनीकी सामग्री के लिए 100 रूपए प्रति हजार शब्द।
    अनुवाद करने के इच्छुक व्यक्ति मुख्यालय, नई दिल्ली से संपर्क कर सकते हैं। सुविधा के लिए फिलहाल केवल राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र या उसके आसपास रहने वाले लोगों को ही यह कार्य दिया जाता है। इस योजना को अनुवाद क्षमता विस्तार योजना के नाम से जाना जाता है।
  • प्रश्न 5 : ब्यूरो का त्रैमासिक प्रशिक्षण कार्यक्रम (दीर्घकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम) क्या है? इसमें कौन प्रशिक्षण ले सकता है? यह कब प्रारंभ होता है? इसका क्या शुल्क है?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो वर्ष 1973 से ही केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों, विभागों,उपक्रमों एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों में कार्य करने वाले हिंदी अधिकारियों/अनुवादकों तथा हिंदी कार्य से जुड़े सभी अधिकारियों/कर्मचारियों के लिए तीन-तीन माह के सेवाकालीन त्रैमासिक अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम संचालित कर रहा है। इस त्रैमासिक अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में हिंदी अनुवादकों के अतिरिक्त वे कर्मचारी भी प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं, जो अनुवाद कार्य या राजभाषा नीति के कार्यान्वयन से जुड़े हों और जिन्हें हिंदी तथा अंग्रेजी भाषा का स्नातक स्तर का ज्ञान हो। राजभाषा विभाग के दिनांक 5 मई, 1975 के कार्यालय ज्ञापन सं. 11/13017/12/75-रा.भा. (ग) में बताए दिशा निर्देशों के अनुसार यह प्रशिक्षण लेना अनिवार्य है। इस पाठ्यक्रम के अधीन प्रत्येक केंद्र में प्रतिवर्ष (1) जनवरी से मार्च, (2) अप्रैल से जून, (3) जुलाई से सितंबर और (4) अक्तूबर से दिसंबर तक तीन-तीन माह के चार सत्र आयोजित किए जाते हैं। ब्यूरो में अनुवाद प्रशिक्षण नि:शुल्क दिया जाता है।
  • प्रश्न 6 : 21 दिवसीय अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम (मध्यमकालिक पाठ्यक्रम) क्या है? यह किन कर्मचारियों के लिए आयोजित किया जाता है?
    उत्तर : सरकारी उपक्रमों और बैंकों के अनुवादकर्मियों के लिए 21 दिवसीय विशेष अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम तैयार किया गया है। 21 कार्य-दिवसीय विशेष अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का आयोजन अलग-अलग कार्यालयों की मांग पर उन्हीं के कार्यालयों में प्रशिक्षार्थियों की उपलब्धता और उन कार्यालयों की सुविधा के अनुसार किया जाता है। अनुभव से यह पता चला है कि इस प्रकार के अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम संबंधित कार्यालय के अधिकारियों/कर्मचारियों को अनुवाद तथा राजभाषा हिंदी के कार्यान्वयन की सटीक जानकारी प्रदान करने में अत्यन्त सहायक एवं उपयोगी सिद्ध हो रहे हैं। इस विशेष अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में अनुवाद कार्य अथवा राजभाषा नीति के कार्यान्वयन से जुड़े हुए अधिकारी/कर्मचारी भाग ले सकते हैं, बशर्ते कि उन्होंने स्नातक स्तर पर हिंदी एवं अंग्रेजी दोनों भाषाएं पढ़ी हों।
  • प्रश्न 7 : पांच दिवसीय संक्षिप्त (अल्पकालिक) अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम क्या है? इसमें कौन भाग ले सकता है?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो देश के विभिन्न कार्यालयों के लिए उनकी मांग पर 5 कार्य दिवसीय संक्षिप्त अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम भी संचालित करता है। इस अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में अनुवाद कार्य अथवा राजभाषा नीति के कार्यान्वयन से जुड़े अधिकारी/कर्मचारी भाग ले सकते हैं। ये कार्यक्रम संबंधित कार्यालयों की मांग पर उनके कार्यालयों में ही आयोजित किए जाते हैं। इन कार्यक्रमों में अनुवाद प्रशिक्षण ब्यूरो के संकाय सदस्यों द्वारा दिया जाता है।
  • प्रश्न 8 : उच्च स्तरीय अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम किनके लिए आयोजित किया जाता है?
    उत्तर : उच्चस्तरीय अनुवाद प्रशिक्षण कार्यक्रम हिंदी अधिकारियों, राजभाषा अधिकारियों तथा उनसे ऊपर के अधिकारियों के लिए आयोजित किए जाते हैं। ये पाठ्यक्रम फिलहाल केवल ब्यूरो के दिल्ली केंद्र अर्थात् मुख्यालय में ही संचालित किए जाते हैं।
  • प्रश्न 9 : पुनश्चर्या अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम किनके लिए आयोजित किया जाता है?
    उत्तर : पुनश्चर्या अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम उन अनुवादकों के लिए अथवा राजभाषा कार्यान्वयन से जुड़े उन कर्मचारियों के लिए आयोजित किए जाते हैं जिन्होंने ब्यूरो से तीन माह का अनुवाद प्रशिक्षण पहले प्राप्त किया हो।
  • प्रश्न 10 : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो के क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्रों के क्या कार्य हैं?
    उत्तर : देशभर में फैले केंद्र सरकार के कार्यालयों में कार्यरत हिंदी अधिकारियों/कर्मचारियों को अनुवाद प्रशिक्षण दिलाने की बढ़ती हुई मांग को पूरा करने के लिए मुंबई, बेंगलूर और कोलकाता में क्रमश: जनवरी, 1985; अक्तूबर, 1985 और अक्तूबर, 1987 में अनुवाद प्रशिक्षण केंद्र खोले गए। केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों, उपक्रमों एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों के क्षेत्रीय कार्यालयों में कार्य करने वाले हिंदी अधिकारियों/अनुवादकों तथा हिंदी कार्य से जुड़े सभी अधिकारियों/कर्मचारियों के लिए इन केंद्रों में सेवाकालीन त्रैमासिक अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रम संचालित किए जाते हैं।
  • प्रश्न 11 : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो से अनुवाद प्रशिक्षण लेने की पात्रता क्या है?
    उत्तर : केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों, विभागों, उपक्रमों एवं राष्ट्रीयकृत बैंकों में कार्य करने वाले हिंदी अधिकारी/अनुवादक तथा हिंदी कार्य से जुड़े सभी अधिकारी/कर्मचारी जिन्हें हिंदी तथा अंग्रेजी भाषा का स्नातक स्तर का ज्ञान हो, प्रशिक्षण के लिए पात्र हैं।
  • प्रश्न 12 : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो में अनुवाद प्रशिक्षण के दौरान क्या कोई भुगतान किया जाता है?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो द्वारा प्रदान किए जाने वाले सभी प्रशिक्षण कार्यक्रम नि:शुल्क हैं। किंतु आउट-रीच प्रशिक्षण कार्यक्रमों में संबंधित विभागों/कार्यालयों का दायित्व है कि वे प्रशिक्षण के लिए आवश्यक स्थान, बोर्ड तथा मार्कर/लेखन सामग्री उपलब्ध कराएं।
  • प्रश्न 13 : क्या केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो में छात्रावास की व्यवस्था है?
    उत्तर : दिल्ली केंद्र में प्रशिक्षार्थियों की सुविधा के लिए छात्रावास की व्यवस्था है। छात्रावास का पता है –
    केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो छात्रावास,
    क्वार्टर सं. – 876 से 890,
    सेक्टर-7, पुष्प विहार,
    नई दिल्ली – 110 017
    दूरभाष : 011-29562873011-29562873
  • प्रश्न 14 : क्या केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो में अनुवाद प्रशिक्षण के दौरान कोई पुरस्कार दिया जाता है?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो के त्रैमासिक (दीर्घकालिक) प्रशिक्षण कार्यक्रम में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रथम तीन प्रशिक्षार्थियों को ‘स्वर्ण पदक’, ‘रजत पदक’ तथा ‘कांस्य पदक’दिए जाते हैं।
  • प्रश्न 15 : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो में अनुवाद प्रशिक्षण किन लोगों द्वारा दिया जाता है?
    उत्तर : केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो में प्रशिक्षण की स्थायी फैकल्टी के रूप में केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो के सहायक निदेशक कार्य करते हैं। इसके अतिरिक्त संयुक्त निदेशक तथा उप निदेशक स्तर के अधिकारी भी समय-समय पर विशिष्ट व्याख्यान देते हैं। केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो अपने प्रशिक्षण कार्यक्रमों में विभिन्न कार्यालयों में सेवारत और सेवानिवृत्त ऐसे अधिकारियों को भी व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित करता है, जो संबद्ध विषयों के विशेषज्ञ होते हैं। इसके अतिरिक्त दिल्ली विश्वविद्यालय, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय, जामिया मिलिया विश्वविद्यालय, केंद्रीय हिंदी संस्थान आदि से संबद्ध विद्वानों को भी समय-समय पर ब्यूरो के मुख्यालय में व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित किया जाता है। इसी प्रकार क्षेत्रीय अनुवाद प्रशिक्षण केन्द्रों में भी विभिन्न कार्यालयों में सेवारत और सेवानिवृत्त अधिकारियों और विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों से जुड़े विद्वानों को व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित किया जाता है।
  • प्रश्न 16 : क्या केंद्रीय अनुवाद ब्यूरो में आयोजित किए जाने वाले अनुवाद प्रशिक्षण कार्यक्रमों में हिंदी अनुवादकों के अतिरिक्त अन्य सरकारी कर्मचारी भी भाग ले सकते हैं?
    उत्तर : ब्यूरो द्वारा संचालित त्रैमासिक (दीर्घकालिक) अनुवाद प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में हिंदी अनुवादकों के अतिरिक्त वे कर्मचारी भी प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं जो अनुवाद कार्य या राजभाषा नीति के कार्यान्वयन से जुड़े हों और जिन्होंने स्नातक स्तर पर हिंदी तथा अंग्रेजी भाषा एक विषय के रूप में पढ़ी हो।
  • प्रश्न 17 : क्या अनुवाद ब्यूरो के त्रैमासिक (दीर्घकालिक) अनुवाद प्रशिक्षण कार्यक्रमों में परीक्षा का कोई प्रावधान है?
    उत्तर : (i) ब्यूरो के त्रैमासिक (दीर्घकालिक) प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रति मास परीक्षा ली जाती है और सत्र के अंत में अर्थात तीसरे महीने में अंतिम परीक्षा ली जाती है। जिसके आधार पर ‘उत्कृष्ट’, ‘बहुत अच्छा’ और ‘अच्छा’ ग्रेड दिए जाते हैं और उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रशिक्षार्थियों को ‘स्वर्ण पदक’, ‘रजत पदक’ तथा ‘कांस्य पदक’दिए जाते हैं।
    (ii) ब्यूरो द्वारा आयोजित किए जाने वाले 21 दिवसीय (मध्यमकालिक) अनुवाद प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भी परीक्षा ली जाती है और उत्कृष्ट’, ‘बहुत अच्छा’ और‘अच्छा’ ग्रेड दिए जाते हैं। किंतु इस परीक्षा में पदक देने का कोई प्रावधान नहीं है |
  • प्रश्न 18 : क्या ब्यूरो द्वारा आयोजित किए जाने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों में प्रशिक्षार्थियों से फीडबैक लिया जाता है?
    उत्तर : हां, ब्यूरो द्वारा आयोजित किए जाने वाले सभी अनुवाद प्रशिक्षण कार्यक्रमों के समापन पर सभी प्रशिक्षार्थियों से फीडबैक लिया जाता है।